Adsense ads par invalid click ko kese roke

1
232

अपने एडसेंस परफॉर्मेंस रिपोर्ट में बहुत बार देखा होगा की एड क्लिक होने पर भी एर्निंग नही होती है इसकी वजह इनवैलिड क्लिक होती है ओर एडसेंस इनवैलिड क्लिक का एक भी पैसा नही देते है बल्कि इससे हमारा एडसेंस एकाउंट डिसेबल भी हो सकता है। इसलिए हमें एडसेंस इंवेलिएड क्लिक एक्टिविटी को रोकने के बारे में सोचना शुरू कर देना चाहिए में आपको इस पोस्ट में इसी के बारे में बता रहा हूँ इसलिए हर किसी ब्लॉगर को इसकी जरूरत पड़ेगी जो एडसेंस यूज़ करता है।

एडसेंस इनकम कम होने की वजह होती है एडसेंस ads पर इंवेलिड क्लिक एक्टिविटी जब भी कोई विज़िटर हमारे ऐड पर गलत क्लिक करता है तो वो क्लिक इनवीएड क्लिक मान जाता है प्रिवेंट इंवेलिडक्लिक एक्टिविटी यानी इंवेलिड क्लिक कोनसे क्लिक माने जाते है इसेआप इन 3 पॉइंट से समझ सकते है।1. जब यूजर एड में बताए गए लिंक की जगह ओर कहीं पर क्लिक करता है।2. जब यूजर ऐड को आपकी साइट का ही हिस्सा मानकर क्लिक करता है।3. जब यूजर ऐड पर क्लिक नही करना चाहता हो और गलती से क्लिक हो जाये।एडसेंस इंवेलिएड एक्टिविटी से हमारी कोई भी इनकम नही होती है उल्टा इंवेलिएड क्लिक से हमारी इनकम कम होती है। ओर हो सकता है ज्यादा इंवेलिएड क्लिक होने की वजह से हमारा एडसेंस एकाउंट भी डिसेबल हो जाये। हर एडसेंस यूजर इस समस्या समाधान पाना चाहता है ओर जानना चाहता है कि किस तरह इंवेलिएड क्लिक एक्टिविटी से बच सके

एडसेंस ऐड पर इंवेलिड क्लिक रोकने के लिए क्या करें

इस पोस्ट में में आपको एडसेंस इंवेलिड क्लिक एक्टिविटी से बचने के लिए कुछ टिप्स बता रहा हूँ जो सभी ब्लॉगर के लिए हेल्पफुल साबीत होगी ओर अपने एडसेंस को सुरक्षित रख सकोगे।

1. Read & Follow Adsense Policy:

एडसेंस यूजर के लिए सबसे इम्पोर्टेन्ट बात होती है एडसेंस पालिसी को प्लान करना इसके लिए आप एडसेंस पालिसी को वीकली चेक करते रहे और एडसेंस पालिसी के अनुसार ही बताये प्लेस पर ऐड लगाए।

2. Stop Relation With Bad Habits:

सबसे पहले आपको बेड पेऑप्ल्स,बेड वेबसाइट ओर ब्लॉग बीएड सोशल ग्रुप से नाता तोड़ना होगा। ओर हैकिंग जैसी गंदी आदत रखने वाले लोग वेबसाइट ओर ब्लॉग आपको इन सबसे बचना होगा क्योंकि ऐसे लोग हमेसा दुसरो का बुरा सोचते है।और हमेसा किसी का बुरा करने की सोचते है। इन सभी जगह से आपको बेकार ट्रैफिक मिलेगा जो सिर्फ टाइम पास के लिए आपके ब्लॉग पर आएगा और आपका नुकसान करके ही जायेगा।

3. Make Good Relationship With Your Reader:

अपने ऑडियंस के साथ अच्छा रिस्ता बनाये ओर उनको भी इंवेलिएड क्लिक के बारे में समझाये इसके लिए आप अपनी साइट के लिए प्राइवेसी पॉलिसी बना कर उसमें अडसेंसे पोलिसि ऐड कर सकते है जिससे आपके रीडर आपकी साइट पर लगे ऐड पर इंवेलिएड क्लिक न कर सके।

4. Don’t Click Your Ads:

मानता हूं आप बहुत इंटेलिजेंट ओर स्मार्ट है लेकिन गूगल को बेवकूफ बनाने का विचार अपने दिमाग से निकल दे।कभी भी एडसेंस के ऐड कर क्लिक मत करो इससे आपका एडसेंस एकाउंट ब्लॉक हो सकता है अगर ब्लॉक नही होगा तो एडसेंस CPC बहुत कम हो जाएगी।

5. Don’t Share Adsense Ads:

एड्सकेसे ऐड कोड को दूसरी साइट पर दिखने की परमीसँन नही देता है आप सिर्फ अपनी वेर्फ़ी साइट पर ही लगा सकते है।इसलिए उन लोगो से बचो जो आपको ज्यादा ट्रैफिक का लालच देकर एडसेंस पटनेरशिप करना चाहते है साथ मे एडसेंस के बारे में पोस्ट करते समय ध्यान रहे कि आपकी पर्सनल informestion नही होनी चाहिए।

6. Stop Spam Traffic:

अगर आपकी साइट पर एकदम से ट्रैफिक बाद जय है और डबल क्लिक मिलने लग जाता है तो ये आपके लिए परेशानी की बात हो सकती है।इससे बचने के लिए sapm ट्रैफिक ओर कमेंट को ब्लॉक कर सकते है। वर्डप्रेस ब्लॉग पर ये बहुत आसान है अगर आपका ब्लॉग फ्री ब्लॉगर पर है तो आप तुरंत एडसेंस को इसकी रिपोर्ट करे।

7. Don’t Buy Paid Traffic:

एडसेंस पेड ट्रेफिक allow नही करता है एडसेंस ओनली उनके विज़िटर को पसंद करता है जो अपनी मर्जी से आपके ब्लॉग पर आता है अगर आप ट्रैफिक खरीदना चाहते हो तो एडसेंस उससे मान्य नही करता है इससे पहले ट्रैफिक खरीदने से पहले एक बार सोच ले कि पेड ट्रैफिक से आपके ब्लॉग पर इंवेलिड क्लिक हो सकते है ओर एडसेंस आपको बेन कर सकता है।

8. Adsense Ads Color:

आप एडसेंस ऐड को अपने हिसाब से कस्टमाइज करने के लिए फ्री है लेकिन सजा ये मतलब नही है कि एडसेंस ऐड को अपने साइट कलर में ही मिल दे एडसेंस चाहता है कि विज़िटर अपनी मर्जी से ही ऐड को ऐड समझ कर ही ऐड कर क्लिक करे।

Previous articleहोस्टल में लड़कियां अकेले में क्या करती है देखिए
Next articleSubmit Guest Post – HMH.pe
हेल्लो दोस्तों नमस्कार आपका hinditeach. com पर स्वागत ह मेरा नाम मदन राठौड़ ह गांव 1केम बी तहसील घड़साना जिला श्री गंगानगर का रहने वाला हु मेरी एक छोटी सी फॅमिली ह जिसके अंदर में,मेरे पिताजी,मेरी माताजी,मेरे दो भाई,एक भाभीजी,मेरी पत्नी और मेरा एक छोटा सा बेबी ह।जहाँ तक आपको में अपने बारे में बताऊ की में एक छोटे से गाँव में रहता हूं और मैने 2015 में अपनी बी.ए. तक की पढ़ाई पूरी कर ली थी और उसके बाद में अब तक पढ़ाई को बाय बाय कह चुका हूं वेसे मुझे बचपन से ही मोबाइल और कंप्यूटर में बहुत दिलचसबी थी और फिर मेने सोचा क्यों न इंटरनेट से ही कुछ काम किया जाये तो फिर मेने अपने कुछ दोस्तों की ब्लॉग पोस्ट पढ़ी और अपना भी ब्लॉग अकाउंट बना लिया तो दोस्तों ये थी मेरी अपनी कहानी और अपनी जुबानी।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.